LATEST - activity, analysis, dissemination, discussion...

प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को वापस लेने की मांग को लेकर धरना व प्रदर्शन

27 जून, 2016 केन्द्र सरकार के द्वारा अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में प्रत्यक्ष विदेशी पूंजी निवेश किये जाने के फैसले के विरोध में सात कम्युनिस्ट पार्टियों ने मिलकर संसद के समक्ष धरना देकर प्रदर्शन किया। सरकार से मांग की गई कि प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के निर्णय को रद्द करे और फौरन वापस ले।

 

विदेशी पूंजी के लिये दरवाजे खोलने की समाज-विरोधी, देश-विरोधी नीति की कड़ी निंदा करें!

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 25 जून, 2016

नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा प्रत्यक्ष विदेशी पूंजी निवेश (एफ.डी.आई.) की नीतियों में नवीनतम बदलाव की घोषणा के तहत हिन्दोस्तानी उद्योगों, सेवाओं, कृषि व्यापार, वित्त तथा सशस्त्र बलों के लिये हथियारों की आपूर्ति में विदेशी पूंजी के लिये दरवाजे को पहले से और ज्यादा खोला गया है।

 

Condemn the anti-social and anti-national policy of opening all doors to foreign capital!

Statement of the Central Committee of Communist Ghadar Party of India, 25 June, 2016

The latest policy changes announced by the Narendra Modi government regarding foreign direct investment (FDI) have opened the doors wider than ever before for foreign capital to rapidly penetrate India’s industry, services, agricultural trade, finance and weapons supply to the armed forces....

 

32 years after Operation Blue Star:

Condemn the fascist attack of the Indian state on the people of Sikh faith!

The brutal attack by the armed forces of the Indian state on the Golden Temple – the holy shrine of the Sikhs – on June 6, 1984, was condemned at a public meeting organized by Lok Raj Sangathan in New Delhi on June 5, 2016. The hall was filled to more than capacity. A large number of youth and students were present.

 

Mazdoor Ekta Lehar

Syndicate content