Statements

मथुरा में राजकीय आतंक की कड़ी निंदा करें!

Submitted by cgpiadmin on शुक्र, 17/06/2016 - 00:30

abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content abcd-dummy content

Tag:   

लोक राज संगठन के सर्व हिन्द उपाध्यक्ष हनुमान प्रसाद शर्मा से साक्षात्कार

Submitted by cgpiadmin on गुरु, 16/06/2016 - 22:30

मजदूर एकता लहर ने राजस्थान में चल रहे किसानों के संघर्षों के संदर्भ में लोक राज संगठन के सर्व हिन्द उपाध्यक्ष हनुमान प्रसाद शर्मा से साक्षात्कार किया, जिसके कुछ अंश हम यहां पर पेश कर रहे हैं।

मजदूर एकता लहर (म.ए.ल.): वर्तमान संघर्ष की पृष्ठभूमि क्या है?

Tag:   

बड़े सरमायदारों के अजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए “जनादेश” पाने में चुनावों का इस्तेमाल

Submitted by cgpiadmin on गुरु, 16/03/2017 - 20:15

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 13 मार्च, 2017

पांच राज्यों - उत्तर प्रदेश, पंजाब, मणिपुर, उत्तराखंड और गोवा में विधानसभा चुनावों के नतीजे घोषित किये जा चुके हैं। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भाजपा को बड़े पैमाने पर सीटें मिली हैं और मणिपुर व गोवा में वह बहुमत के लिए जुगाड़ करने में लगी हुई है। पंजाब में कांग्रेस को बहुमत मिला है। मोटे तौर पर इस चुनाव से भाजपा की स्थिति मजबूत हुई है। इससे राज्य सभा में उसकी सीटों का आंकड़ा बढ़ाने में मदद मिलेगी और देशभर में ज्यादा राज्य सरकारें भी उसकी अगुवाई में होंगी।

Tag:   

हिन्दोस्तानी गणतंत्र के 67 वर्ष के अवसर पर

Submitted by cgpiadmin on शुक्र, 17/02/2017 - 01:38

नयी नींवों पर गणतंत्र का नव-निर्माण करना होगा

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 24 जनवरी, 2017

हिन्दोस्तानी गणतंत्र जो कुछ भी होने का दावा करता है, वास्तव में वह हर मामले में उसका ठीक उल्टा है।

Tag:   

हिन्दोस्तानी राज्य ही सांप्रदायिक है, न कि सिर्फ़ कुछ राजनेता

Submitted by cgpiadmin on गुरु, 16/02/2017 - 21:23

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केंद्रीय समिति का बयान, 8 जनवरी, 2017

2 जनवरी को हिन्दोस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने एक फैसला सुनाया कि, कोई भी राजनेता जाति, संप्रदाय या धर्म के नाम पर वोट नहीं मांग सकता है” तथा ऐसी कार्यवाहियां संविधान के धर्मनिरपेक्ष स्वभाव के ख़िलाफ़ होंगी तथा भ्रष्ट चुनावी अभ्यास माने जायेंगे।”

Tag:   

मोदी सरकार के मज़दूर-विरोधी, किसान-विरोधी, समाज-विरोधी और राष्ट्र-विरोधी अजेंडा को हराने के लिये संगठित हों!

Submitted by sampu on गुरु, 01/09/2016 - 04:32

2 सितंबर की आम हड़ताल को सफल बनाएं!

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 28 अगस्त, 2016

साथियों,

Tag:   

70वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर :

Submitted by sampu on गुरु, 01/09/2016 - 04:30

हिन्दोस्तान के लिए कौन सा रास्ता?

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 15 अगस्त, 2016

हिन्दोस्तान की सरकार ने 70वें स्वतंत्रता दिवस को बड़ी धूम-धाम से मनाने के लिए तैयारी की है। परंतु हमारी अधिकांश जनता इस बात से बहुत चिंतित है कि बर्तानवी उपनिवेशवादी शासन के खत्म होने के 69 वर्ष बाद, आज हिन्दोस्तानी समाज किस दिशा में जा रहा है।

Tag:   

पार्टी के दस्तावेज

यह चुनाव एक फरेब है!हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव, कामरेड लाल सिंह का

मजदूर एकता लहर के संपादक, कामरेड चन्द्रभान के साथ साक्षात्कार

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)

यह बयान, ”बड़े पूँजीपतियों के लिये अच्छे दिन का मतलब मजदूर-किसान के लिये दुख-दर्द के दिन“, हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति की 31 मई, 2014 को सम्पन्न हुई परिपूर्ण सभा में हुए विचार-विमर्श और मूल्यांकन पर आधारित है।

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव, कामरेड लाल सिंह का,

मजदूर एकता लहर के संपादक, कामरेड चन्द्रभान के साथ साक्षात्कार

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)

हिन्दोस्तानी गणराज्य का नवनिर्माण करने और अर्थव्यवस्था को नई दिशा दिलाने के कार्यक्रम के इर्द-गिर्द एकजुट हों ताकि सभी को सुख और सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके!

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)

ग़दर जारी है... हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की प्रस्तुति

सौ वर्ष पहले अमरिका में हिंदोस्तानियों ने हिन्दोस्तान की ग़दर पार्टी की स्थापना की थी. यह उपनिवेशवाद-विरोध संघर्ष में एक मिल-पत्थर था.

पार्टी का लक्ष था क्रांति के जरिये अपनी मातृभूमि को बर्तानवी गुलामी से करा कर, एक एइसे आजाद हिन्दोस्तान की स्थापना करना, जहां सबके लिए बराबरी के अधिकार सुनिश्चित हो.

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)

सिर्फ मज़दूर वर्ग ही हिन्दोस्तान को बचा सकता है! हिन्दोस्तान की ग़दर पार्टी की केंद्रीय समिति का बयान, ३० अगस्त २०१२

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)