वालमार्ट की मज़दूर-विरोधी नीति की निंदा करें

वालमार्ट खुदरे व्यापार की एक अमरीकी बहुराष्ट्रीय कंपनी है, जो छूट के साथ बेचने वाले बड़े-बड़े डिपार्टमेंट स्टोरों और वेयरहाऊस स्टोरों की श्रृंखला चलाती है। 2012 की फॉच्र्यून ग्लोबल 500 सूची के अनुसार यह दुनियाभर में तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। खुदरे व्यापार में यह दुनियाभर में सबसे बड़ी कंपनी है।

वालमार्ट, जो 20 लाख कर्मचारियों को नौकरी दे कर दुनिया भर का सबसे बड़ा निजी नियोक्ता है, उत्तरी अमरीका में यूनियनों से मुक्त है और आक्रमकता से ऐसी ही स्थिति बनाये रखने का काम करता है। परन्तु पिछले एक साल में, अमरीका के वालमार्ट के मज़दूर अवर (हमारा) वालमार्ट नामक संस्था में संगठित हो रहे हैं, जिसको युनाईटेड फूड एण्ड कमर्शियल वर्कर्स यूनियन का समर्थन है। वालमार्ट के मज़दूरों का संगठन उनके काम करने की शर्तो में सुधार के लिये अभियान चला रहा है। मज़दूरों के इस कदम का कंपनी गैरकानूनी ढंग से बदला ले रही है।

4 अक्टूबर को वालमार्ट के मज़दूरों ने इतिहास बनाया जब दक्षिणी केलिफोर्निया के अनेक स्टोरों से एक साथ सैकड़ों मज़दूरों ने हड़ताल की। इसके 3 दिन पहले ही, इलिनॉय प्रांत में वालमार्ट वेयरहाऊस से मज़दूरों ने एक बड़ा जुलूस निकाला और आदेशों का पालन करने से इनकार किया, जिससे कंपनी के अमरीकी वितरण नेटवर्क के सबसे अहम बिंदु का कामकाज ठप्प हो गया। हड़ताली मज़दूर कंपनी के “छुपे हुये“ वेयरहाऊस कर्मचारी हैं जो वालमार्ट की प्रसिद्ध सस्ती वस्तुओं को देश के एक कोने से दूसरे कोने तक ले जाते हैं।

इन वेयरहाऊसों में काम करने वाले मज़दूरों को वालमार्ट ठेकेदारों के जरिये नौकरी पर रखता है और उनके काम करने की शर्तें बहुत ही कठोर होती हैं। मज़दूरों को ट्रकों से अपने हाथों से अकेले 270 पाऊंड की ग्रिलें उतारनी पड़ती हैं। गर्मियों में वे पसीने से तरबतर होते हैं और सर्दियों में वे ठंड से ठिठुरते हैं। बिना ब्रेक की बड़ी बड़ी भारी ठेलागाडि़यों से उनके पैरों में खरौंचे लगती रहती हैं। वालमार्ट के लिये काम करने वाले मज़दूरों ने संगठित होने का काम 2009 में शुरू किया था। उनका अनुमान है कि शिकागो इलाके में 70 प्रतिशत वेयरहाऊस मज़दूर अस्थाई हैं। यानि कि मज़दूरों को “स्थायी रूप से अस्थायी”  रखा जाता है, जहां सालों साल काम करने के बाद भी उन्हें कभी नियमित नहीं किया जाता; उन्हें कभी न्यूनतम वेतन या कभी कभी उससे भी कम वेतन पर रखा जाता है; और उन्हें मालिक की मर्जी से काम से निकाला जा सकता है।

मज़दूरों के अनुमान में काम के रुकने से कंपनी को करोड़ों डॉलरों का घाटा होता है।

Tag:   

Share Everywhere

करोड़ों डॉलरों    न्यूनतम वेतन    270 पाऊंड    वेयरहाऊस    नौकरी    वालमार्ट    मज़दूर-विरोधी नीति    Oct 16-31 2012    World/Geopolitics    Economy     Privatisation    Rights    

पार्टी के दस्तावेज

thumb

 

पूंजीपति वर्ग की राजनीतिक पार्टियां यह दावा करती हैं कि
उदारीकरण, निजीकरण और भूमंडलीकरण के कार्यक्रम का कोई
विकल्प नहीं है। परंतु सच तो यह है कि इसका विकल्प है।
इसका विकल्प है अर्थव्यवस्था को एक नयी दिशा दिलाना, ताकि
लोगों की जरूरतों को पूरा करने को प्राथमिकता दी जाए, न कि
पूंजीपतियों की लालच को पूरा करने को।
यह हिन्दोस्तान के नवनिर्माण का कार्यक्रम है।

पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

 

thumbnail

इस दस्तावेज़ “किस प्रकार की पार्टी” को, कामरेड लाल सिंह
ने हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय कमेटी की
ओर से 29-30 दिसम्बर, 1993 में हुई दूसरी राष्ट्रीय सलाहकार
गोष्ठी में पेश किया था।


पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

Click to Download PDFइस पुस्तिका के प्रथम भाग में नोटबंदी के असली इरादों को समझाने तथा उनका पर्दाफाश करने के लिये, तथ्यों और गतिविधियों का विश्लेषण किया गया है। दूसरे भाग में सरकार के दावों - कि नोटबंदी से अमीर-गरीब की असमानता, भ्रष्टाचार और आतंकवाद खत्म होगा - का आलोचनात्मक मूल्यांकन किया गया है। तीसरे भाग में यह बताया गया है कि कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के अनुसार, इन समस्याओं का असली समाधान क्या है तथा उस समाधान को हासिल करने के लिये फौरी कार्यक्रम क्या होना चाहिये।

(Click thumbnail to download PDF)

यह चुनाव एक फरेब है!हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव, कामरेड लाल सिंह का

मजदूर एकता लहर के संपादक, कामरेड चन्द्रभान के साथ साक्षात्कार

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)

यह बयान, ”बड़े पूँजीपतियों के लिये अच्छे दिन का मतलब मजदूर-किसान के लिये दुख-दर्द के दिन“, हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति की 31 मई, 2014 को सम्पन्न हुई परिपूर्ण सभा में हुए विचार-विमर्श और मूल्यांकन पर आधारित है।

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव, कामरेड लाल सिंह का,

मजदूर एकता लहर के संपादक, कामरेड चन्द्रभान के साथ साक्षात्कार

(PDF दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें)